रोहिंग्या मुसलमान, भारत और आपकी राय

समाचारों में चर्चा हे की रोहिंग्या मुसलमानों को कोई मुस्लिम देश तक अपनाने को तैयार नहीं है, पर भारत को उनकी मदद कारण चाहिए इस बात पर आप लोगो के क्या राय हे अपनी राय प्रदान करे

इस विषय पर आप लोगो के राय प्राप्त हुई परन्तु आप लोगो से निवेदन हे के राय के साथ अपना नाम भी दे और अपने खुद के विचार देवे

  1. रोहिंग्या मुसलमान आखिर क्यों खतरा है भारत के लिये जानिये… –ये मुलतः म्यांमार के रहने वाले है, म्यांमार एक बौद्धिस्ट देश है और बौद्धिजम पूरी दुनियां में शांति का प्रतीक धर्म के रूप में पहचाना जाता है! –कुछ साल पहले तक म्यांमार एक शांतिप्रिय देश था लेकिन फिर रोहिंग्या मुसलमानों ने बौद्धिस्ट लोगो की बेटियो को अपहरण कर के बलात्कार करना शुरू कर दिया, बौद्धिस्ट लड़कियों का फिर जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाते, जैसे पाकिस्तान में हिन्दू लड़कियों के साथ होता है! रोहिंग्या मुसलमानो ने म्यांमार में अपना एक आतंकी संगठन बना लिया सऊदी अरब की सरपरस्ती में, म्यांमार में आतंकी वारदातों को अंजाम दिया जाने लगा और इसके लिये सऊदी अरब से हाई डोनेशन मिलता,म्यांमार में पूजा स्थलों पर हमले होने लगे और बौद्धिस्ट युवा भिक्षुओं को जान से मारा जाने लगा! –जब म्यामांर के बौद्धिस्ट लोगो ने इनका विरोध किया तो रोहिंग्या मुसलमानों ने कहां कि उन्हें म्यामांर में अपने लिये अलग देश चाहिये!जैसा कश्मीरी करते है हिंदुस्तान में! –इस मामले में सबसे बड़ा टर्निंग पॉइंट तब आया जब # भारत के # बिहार राज्य में स्थित बौद्धिस्टों का अति पूजनीय स्थल # महाबोधिवृक्ष पर आतंकी हमला हुआ जिसमें इन्ही रोहिंग्या मुसलमानों के आतंकी संगठन का हाथ सामने आया और उस आतंकी संगठन ने कहा म्यांमार से कि ये म्यांमार में उन्हें उनकी मांगों को ठुकराए जाने का नतीजा है! –विवश शांतिप्रिय म्यांमार के बौद्धिस्ट लोगो ने झुकने के वजाये इन रोहिंग्या मुसलमानों को अपने देश से भगाने का फैसला किया बजाय भारत के कश्मीरीपंडितों की तरह भागने के! अब मित्रो सबसे बड़ा प्रश्न ये है कि जिन रोहिंग्या मुसलमानों ने पहले भी भारत पर आतंकी हमला किया,उन्हें भारत शरण क्यो दे? किस लिए दे? –भारत को आतंकवाद की शोधस्थली बनाने के लिये? या कल को जब ये भारत में पुराने हो जाये,इनके बच्चे यहाँ पैदा होकर, पड़ लिखकर भारत के नागरिक हो जाये और फिर भारत मे अलग देश मांगे अपने लिये इसलिए रुकने दे
  2. मेरी राय में तो बिल्कुल नही,,,,,,मदद कर दें,,, लेकिन हाथ न् पकड़ें।उन्हें भारत मे रहने की अनुमति नही देनी चाहिए। (स्वराक्षी)
  3. जैसे को तैसा करना चाहिये ! कोई मौका नही देना चाहिये ! मौका दिया तो अपने पैर पर कुल्हाडी मारना सिद्ध होगा !
  4. रोहिंग्या के साथ साथ बांग्लादेश से आये शरणार्थियों को भी देश निकाला दे देना चाहिए अपना खाते है और हम को ही खाते है – ( डूंगर सिंह )
  5. ईन रोहिग्या मुसलमानो को वापीस भेज देना चाहीये देश पहले ही शरणार्थियो से दुखी हे (दुर्गेश दीक्षित)
  6. हां बिल्कुल भेज देना चाहिए भारत में उनके लिए कोई जगह नहीं है (श्याम चोधरी)
  7. आज के विषय पर मेरी निजी राय…. देश की गरिमा को बनाये रखते हुए कानून की मान्यता एवं सभी सीमाओं का अनुपालन हो… भगाना या शरण देने का निर्धारण उसी के अनुरूप होना आवश्यक है… मनीष मिश्रा मणि
  8. रोहिंगया मुसलमानो को देश से बाहर खदेड़ देना चाहिए (उमेश पंड्या )
  9. रोहिंग्या भारत के लिए खतरा और इन्हें वापस जाना होगा
    इतनी स्पष्ट रॉय भारत सरकार ने आज 16 पन्ने के हलफनामे के साथ कोर्ट में रख दी
    देश की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नही करने के लिए मोदी सरकार को बहुत बहुत साधुवाद( शेलेन्द्र )
  10. एक गाय का अच्छा खासा तबेला था । एक दिन बहुत जोरों की बारिश होने लगा और उसी बारिश कि रात मे एक भींगता हुआ कुता आया कुता ने गाय से पुछा ऐ गाय माई हम तोहार तबेला मे आ जाऐं क्या , एक कोना मे पडल रहेंगे , देख न बारिश जोर से हो रहा है …………..☺गाय स्वाभाववश कुता को तबेले मे शरण दे देती है ☺
    बहुत दिनों बाद एक *सांप आता है वो भी शरण मांगता है तो कुता बोलता है कि हाँ हाँ आ जाओ बहुते जगह है यहां पर हलांकि गाय को बुरा लगता है फिर भी स्वाभाववश वो शांत रहती है । समय बीतने के साथ इसी तरह से *बिच्छू *सुअर *गधा आदि जानवर भी उसी तबेले मे शरण ले लेते हैं ।
    ☺☺अब संख्या अधिक हो जाने से सबको कष्ट होने लगा , गाय फिर भी चुप रही । एक रात अंधेरे मे सारे जानवर मिलकर फैसला करते है कि सबसे ज्यादा जगह तो ई गाय ही घेरले है तो क्यों न ईसको यहाँ से भगा दें……और दुसरे दिन कुत्ते ने सबसे पहले कमान संभाली और गाय को भौंक के तबेले से बाहर जाने को कह दिया ।
    गाय ने आनाकानी की कहा:- याद है मैंने ही तुम्हें शरण दिया था ।
    तभी कुछ देर बाद बिच्छु ने गाय के बछेड़े के कोमल स्थान पे डंक मार दिया ।
    बच्चे का दर्द देख गाय बिलबिला गयी ……………………. 😟😧😮
    तब भी वो जाने को तैयार न हुयी ।
    तब सांप ने धमकी दे दी :- जाओ नहीं तो काट लूँगा ।
    तबेले से नहीं जाओगी तो दुनियां से जाओगी । 😈😈
    गाय अपने नवजात बछेरे को लेके सुनसान गुमनाम रस्ते पे निकल पड़ी । ……..☺☺सन्नाटा….सब धर्मबादी-जातिबादी चुप☺☺..

    क्यों…. श्रीमान जी कहीं आप वही तो नहीं सोच रहें है …अगर आप वही सोच रहे है ..तो एकदम सही सही सोच रहे हैं।। ( पवन धाकड़ )

  11. बहुत से सेकुलरी लोग बोल रहे है कि 2-4% रोहिंग्या ही आतंकी हैं
    मतलब 40000 का 4% =1600
    क्या आपको मंजूर हैं  ( नितिन सेठी )
  12. रोहिंग्या मुस्लमान भारत में वोट नहीं दे पायेगे अगर ऐसा कानून बना दे तो क्या कोई नेता इनके लिए छाती पिटेगा (तरुण )
  13. हामिद अंसारी आप कहाँ हैं ….
    इन रोहिंग्या मुसलमानो को समझाएंगे की यह देश मुस्लिमों के लिए सुरक्षित नहीं है ..

    वो ज़िद पे अड़े है

  14. मेरे विचार से रोहिंगयो को देश में आने देना चाहिए । देश में हजारो लोग लिवर किडनी और दिल की बीमारियो से ग्रस्त हे । तो इन रोहिंगयो का दिल लिवर किडनी आँखे निकाल कर देश के लाखो लोगो की जीवन बचाया जा सकता हे । आप सभी क्या कहते हो (नितिन)
  15. जिन्हें प्रभु राम के मंदिर के लिए जगह देने में तकलीफ हैं, उन्हें 40 हजार रोहिंग्या मुसलमानों के लिए जगह चाहिए। (जय प्रकाश )
  16. बात कड़वी है पर सच्ची है :- 👇🏻

    पूरी दुनिया में ऐसा कोई भी देश नहीं है जहाँ अपने ही नागरिकों को शरणार्थी शिविरों में रहने के लिए विवश होना पडा हो | यह त्रासदी कोई साल दो साल नहीं पूरे सत्ताईस वर्षों से चली आ रही है । जो कभी केशर की क्यारिओं और सेब – बागानों के मालिक हुआ करते थे, आज वो उन खेतों में मजदूरी भी नहीं कर सकते ।

    कश्मीरी पंडित कोई चोर-उचक्के या गुंडे – मवाली नहीं थे । वो तो दुनिया के सबसे ज्यादा सहिष्णु और शांति प्रिय जीव थे, बहुत बड़े मानवतावादी … । पर इस सहिष्णुता की क्या कीमत मिली उन्हें ? अपना सर्वस्व त्याग कर जम्मू और दिल्ली के दडबों में नारकीय जीवन जीने की विवशता ।

    यही समय है, अब केंद्र सरकार को विस्थापित कश्मीरी हिन्दुओं को कश्मीर में बसाने के लिए पूर्ण प्रयास करना चाहिए । इनको जमीन दीजिए ..खेत दीजिए …सुरक्षा दीजिये ..सुरक्षित रहने और हथियार चलाने का प्रशिक्षण दीजिये । आज जो मानवतावादी बातें करके आंसू के फव्वारे छोड़ रहे, उनके आंसू दो मिनट में काफूर हो जाएंगे ।

    जिस कश्मीर में किसी अन्य राज्य का नागरिक बिना आदेश के प्रवेश भी नहीं ले सकता, उसी कश्मीर में इतनी बड़ी संख्या में रोहिंग्या कैसे बसा दिए गए ? यह तो 370 का सरासर उल्लंघन हो गया । अौर जब 370 एक बार टूट ही गया तो उसे अब टूट ही जाना चाहिए ….हमें भी कश्मीर में थोड़ी सी जमीन खरीदनी है । जब रोहिंग्या वहाँ आकर रह सकते हैं तो हम क्यों नहीं ? हम भी तो इसी देश के नागरिक हैं, आखिर हमारे अधिकार किसी घुसपैठिये रोहिंग्या से भी गये – गुजरे कैसे हो गये । हमारे भाई -बंधू अपने रक्त से कश्मीर की रक्षा करें और हमारे टैक्स से वहाँ की अर्थव्यवस्था चले, पर अपनी मेहनत की कमाई से हम एक जमीन का टुकड़ा भी न खरीद सकें यह कहाँ का न्याय है ? कश्मीर किसी के बाप का थोड़ी न है …पूरे भारत का रक्त वहाँ की मिट्टी में मिल चुका है ।

    बहुत हो लिया हमारे अधिकारों का उल्लंघन । हमें भी न्याय चाहिए ..पूरे भारत को न्याय चाहिये …कश्मीरी हिन्दुओं को न्याय चाहिये । हमारे भी मानवाधिकार हैं ..हम किसी दूसरे ग्रह से नहीं आये हैं । बहुत दे चुके खून और धन ..अब हर शहीद परिवार को कश्मीर में एक प्लाट और थोडा सा सेब – बागान मिलना चाहिए !! (नितिन सेठी )

  17. कमाल है ना..

    जिस देश में मुसलमान सुरक्षित नहीं
    उसी देश में विदेशी मुसलमान रहने
    की जिद कर रहे हैं । (ओम )

One comment on “रोहिंग्या मुसलमान, भारत और आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *